PDA

View Full Version : महान शायरों के चंद शेर



Pages : 1 2 [3] 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22

chetna9319
28-06-2011, 08:12 AM
अब कुछ और भी लिखो यार

RANGILA.
28-06-2011, 08:48 AM
बात कम कीजिये, जहालत छुपाते रहिये.

अजनबी दुनिया है,दोस्त बनाते रहिये.

दिल मिले न मिले,हाथ मिलाते रहिये.



दिल से मिलने कि तमन्ना ही नही जब दिल में,

हाथ से हाथ मिलाने की ज़रूरत क्या है.

RANGILA.
28-06-2011, 09:31 AM
कौन किसी का साथ देता है जहां में ए दोस्त,
आखिरी वक्त तो पलके भी पलट जाती हैं.


इन्सान अपने आप में मजबूर है बहुत,
कोई नहीं है बेवफ़ा अफ़सोस मत करो.

RANGILA.
28-06-2011, 09:39 AM
रोके जो मेरी राह ,वो मंजर नहीं आया.

अभी तक मेरी राह में समंदर नहीं आया ....


अपना अंजाम तो मालूम है सब को फिर भी,
अपनी नज़रों में हर इन्सान सिकंदर क्यूँ है.

RANGILA.
28-06-2011, 09:46 AM
बरसों में मरासिम बनते हैं लम्हों में भला क्या टूटेंगे,
तू मुझ से बिछड़ना चाहे तो दीवार उठा धीरे धीरे.

Kamal Ji
28-06-2011, 05:25 PM
दिल वह नगर नही जो फिर आबाद हो सके
पछताओगे बहुत यह बस्ती उजाड़ के.

Kamal Ji
28-06-2011, 05:40 PM
हमने बना लिया है आशियाना नया;
जाओ यह बात फिर किसी तूफां से कह दो .

Kamal Ji
28-06-2011, 08:06 PM
कौन कहता है कि हम तुम में जुदाई होगी;
अरे यह हवा किसी दुश्मन ने उढाई होगी.

Kamal Ji
28-06-2011, 08:08 PM
मैंने यूं ही फेरी थी रेत में उंगलियां ;
देखा तो गौर से तेरी तस्वीर बन गयी.

SUNIL1107
28-06-2011, 09:15 PM
यार चौधरी जी आप तो हाथ धोकर पीछे पड़ गए हैं दोस्त
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
शायरियों के (मजाक )

RANGILA.
29-06-2011, 10:37 AM
दिल वह नगर नही जो फिर आबाद हो सके
पछताओगे बहुत यह बस्ती उजाड़ के.

उस*मे से नही मतलब.. दिल जिस से है बेगाना..
मकसुद है उस*मे से.. दिल ही मे जो खिंचती है..
सूरज में लगे*धब्बा.. कुदरत के*करिश्में हैं..
बुत हमको कहें काफ़िर.. अल्लाह की मर्ज़ी है.. [/Q

ChachaChoudhary
29-06-2011, 11:40 AM
‘‘आँख जो कुछ देखती है, लब पै आ सकता नहीं।
महवे-हैरत हूँ कि दुनिया क्या से क्या हो जायेगी।

ChachaChoudhary
29-06-2011, 11:41 AM
‘‘ऊँचे-ऊँचे मुजरिमों की पूछ होगी हश्र में।
कौन पूछेगा मुझे मैं किन गुनहगारों में हूँ।।’’

Kamal Ji
29-06-2011, 12:57 PM
उस मय से नही मतलब.. दिल जिस से है बेगाना..
मकसुद है उस मय से.. दिल ही मे जो खिंचती है..
सूरज में लगे*धब्बा.. कुदरत के*करिश्में हैं..
बुत हमको कहें काफ़िर.. अल्लाह की मर्ज़ी है.. [/Q

कियों अच्छी भली गजल कि टांग तोड़ रहे हो
शब्द यह हैं................अंदर लाइन कर के रंग भी बदल दिया गया है

Kamal Ji
29-06-2011, 01:00 PM
यार चौधरी जी आप तो हाथ धोकर पीछे पड़ गए हैं दोस्त
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
शायरियों के (मजाक )

सुनील भाई जी आपको सच में लगता है न
कि हाथ धो कर पीछे पड़े हुए हैं
देखो मैं अब तक भी शिकायत नही की है
अब सिर्फ इग्नोर ही कर रही हूँ .

saam
29-06-2011, 01:12 PM
कुछ मेरी और से.

saam
29-06-2011, 01:15 PM
ये वफ़ा उन दिनों की बात हे....
जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे.

saam
29-06-2011, 01:18 PM
समंदर में फ़ना होना तो किस्मत की निशानी हे,
जो मरते हे किनारों पर मुझे दुःख उन् पे होता हे....

saam
29-06-2011, 01:20 PM
एक और शेर ग़ालिब साब का.



ठिकाना कब्र हे इबादत कुछ तो कर ग़ालिब,
कहावत हे खाली हाथ किसी के घर जाया नहीं करते....

saam
29-06-2011, 01:24 PM
उस की जफ़ाओं ने मुझे एक तहेजीब सिखा दी हे,
में रोते हुए सो जाता हू पर सिकवा नहीं करता....

saam
29-06-2011, 01:45 PM
ये शेर जिस किसी ने भी लिखा हे लगता हे मेरे लिए ही लिखा हे.
:salut::salut::salut::salut:





ना जाने ज़मानेवालो को क्या अदावत हे हम से,
की जीस चीज को हम चाहे सब उस के तलबगार हो जाते हे....

Kamal Ji
29-06-2011, 02:22 PM
एक और शेर ग़ालिब साब का.



ठिकाना कब्र हे इबादत कुछ तो कर ग़ालिब,
कहावत हे खाली हाथ किसी के घर जाया नहीं करते....

बहुत अच्छी लाइने पिरोई हैं आपने.........अनु.

ChachaChoudhary
29-06-2011, 03:17 PM
लम्हा-लम्हा जीना क्या और लम्हा-लम्हा मरना क्या
साथ तुम्हारा, साथ हमारे अगर रहे तो कहना क्या

हम-तुम दोनों एक छंद है शायर जिनको भूल गया
बोले, बाद इस छंद के अब तो कहना क्या, न कहना क्या

बूंद-बूंद साँसे आती है, बूंद-बूंद एक राह बनी
घुट-घुट कि बात में हमको, कहना क्या न कहना क्या

saam
29-06-2011, 10:27 PM
बहुत अच्छी लाइने पिरोई हैं आपने.........अनु.


बहोत बहोत शुक्रिया.

saam
30-06-2011, 04:32 PM
मेरा ज़मीर मुझसे कहेता हे के क्या देखता हे अपने हाथो की लकीरों को.
वो तो तेरा तब भी ना था जब उसका हाथ तेरे हाथ में था.

badboy123455
30-06-2011, 05:42 PM
सौ बार ख़त निकलकर देखा है जेब से,

हम जो समझ रहे हैं,वो उसने लिखा नहीं....

बहुत अच्छे मित्र ,ये शायरी नहीं सच्चाई हे मुझे भी ३ दिन पहले एक लड़की का sms [खत ही समज लो]आया [मना कर दिया उसने बड़े प्यार से]
और मेने उसे कई कई बार पढ़ा
+repo तो स्वीकारना ही पड़ेगा आपको

badboy123455
30-06-2011, 06:25 PM
रेख्ते के तुम हीं उस्ताद नहीं हो ’ग़ालिब’
कहते हैं अगले जमाने में कोई मीर भी था

वाह लाजवाब .....शानदार

marwariladka
30-06-2011, 06:28 PM
शायद प्यार में नहीं था दोस्ती सा दम..
शायद इस लिए दोस्त साथ निभाता रहा
मुझे पता ना चला क्या ज्यादा था या कम
मगर प्यार तो रास्ते भर रुलाता रहा...

pathfinder
01-07-2011, 08:39 AM
तुम्हारे घर में दरवाज़ा है लेकिन तुम्हे खतरे का अंदाज़ा नहीं है
हमें खतरे का अंदाज़ा है लेकिन हमारे घर में दरवाज़ा नहीं है |

badboy123455
01-07-2011, 09:07 AM
तुम्हारे घर में दरवाज़ा है लेकिन तुम्हे खतरे का अंदाज़ा नहीं है
हमें खतरे का अंदाज़ा है लेकिन हमारे घर में दरवाज़ा नहीं है |

इक रात ठहर जाये हम घर में तेरे लेकिन
छत पर न सुला देना हम नींद में चलते हे

ChachaChoudhary
01-07-2011, 12:39 PM
वफ़ा-ए-वा'दः नहीं, वा'दः-ए-दिगर भी नहीं
वो मुझसे रूठे तो थे, लेकिन इस क़दर भी नहीं
न जाने किसलिए उम्मीदवार बैठा हूँ
इक ऐसी राह पे जो तेरी रहगुज़र भी नहीं

saam
02-07-2011, 12:14 AM
इस दुनिया में प्यार करनेवालो की कमी नहीं हे....
बस प्यार ही उस से हो जाता हे जो बेवफा हो.

aawara
02-07-2011, 01:07 AM
हमारे बाद नहीं आयेगा तुम्हें चाहत का ऐसा मज़ा
तुम लोगों से कहते फिरोगे, मुझे चाहो उसकी तरह

aawara
02-07-2011, 01:09 AM
मेरी हर मांगी हुई दुआ बेकार गयी फ़राज़
जाने किस शक्स ने चाहा था इतनी शिद्दत से उसे
--अहमद फ़राज़

Sharma1989
02-07-2011, 01:47 AM
भीगी पालको के साथ आंखे नम थी,
ज़िंदगी उनसे सुरू उनही पे खतम थी॰
वो रूठ कर दूर चले गये हमसे ,
सायद हमारी मोहबत ऑरो से थोड़ी कम थी।

BHARAT KUMAR
02-07-2011, 01:49 AM
लाजवाब यार!
मेरी हर मांगी हुई दुआ बेकार गयी फ़राज़
जाने किस शक्स ने चाहा था इतनी शिद्दत से उसे
--अहमद फ़राज़

Sharma1989
02-07-2011, 01:50 AM
Tu Hi Bata e-DIL Tujhe SamjhaU Kaise
Jise Chahta H Tu Use Nzdik Lau Kaise
U To Hr Tmanna
Hr Ehsas H Wo Mera
Mgar Us Ehsas Ko Ye Ehsas DilaU Kaise..

BHARAT KUMAR
02-07-2011, 01:50 AM
वाह वाह अल्ताफ राजा साब! क्या जुगलबंदी है!
इक रात ठहर जाये हम घर में तेरे लेकिन
छत पर न सुला देना हम नींद में चलते हे


तुम्हारे घर में दरवाज़ा है लेकिन तुम्हे खतरे का अंदाज़ा नहीं है
हमें खतरे का अंदाज़ा है लेकिन हमारे घर में दरवाज़ा नहीं है |

saam
02-07-2011, 01:38 PM
हाथ जख्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी,
लकीरों को मिटानेचला था किसी को पाने के लिए....

SUNIL1107
02-07-2011, 01:40 PM
कुछ खटकता तो है पहलू में मेरे रह-रहकर !

अब खुदा जाने, तेरी याद है या दिल मेरा !!

saam
02-07-2011, 01:40 PM
प्यार क्या चीज हे मुझे क्या मालूम,
शायद ये वाही रिश्ता हे जो मेरा उससे और उसका किसी और से हे.

badboy123455
02-07-2011, 01:41 PM
लड़ना तो चाहा था उसने हालात से मगर

हाथो में उसके कागजी तलवार ही तो थी

saam
02-07-2011, 01:42 PM
समंदर से कहे दो अपनी मौजो को संभाल कर रखे,
लोग ही काफी हे जिंदगी में तूफान लाने के लिए....

SUNIL1107
02-07-2011, 01:43 PM
हर सुबह उठ के तुझसे माँगू हूँ मैं तुझी को !

तेरे सिवाय मेरा कुछ मुद्दआ नहीं है !!

मीर

badboy123455
02-07-2011, 01:44 PM
लड़ना तो चाहा था उसने हालात से मगर

हाथो में उसके कागजी तलवार ही तो थी

saam
02-07-2011, 01:44 PM
तबदीली जब भी आती हे मौसम की अदाओ में,
किसी का यु बदल जाना बहोत ही याद आता हे....

badboy123455
02-07-2011, 01:49 PM
तलवार के जख्मो की किसे फिक्र पड़ी हे
बातो से लगे घाव को भरने की दवा दे

badboy123455
02-07-2011, 01:53 PM
मेने पूछा पहला पत्थर मुझ पर कोन उठाएगा
आई इक आवाज की,तू जिसका मोहसिन कहलाएगा

badboy123455
02-07-2011, 01:55 PM
कोई खोफ खुदा कीजे,इस तरह न चलिए
सौ बार तो इस चाल पे तलवार चली हे

badboy123455
02-07-2011, 01:58 PM
इस सादगी पे कोन न मर जाये ऐ खुदा
लड़ते हे और हाथ में तलवार भी नहीं

SUNIL1107
02-07-2011, 03:59 PM
कहर हो या बला हो, या जो कुछ हो !

काश कि तुम मेरे लिए होते !!

ग़ालिब

SUNIL1107
02-07-2011, 04:02 PM
उन्हें भी जोशे उलफ़त हो तो लुत्फ़ उठ्ठे मुहब्बत का !

हमीं दिन-रात अगर तड़पे तो फिर इसमें मज़ा क्या है !!

badboy123455
02-07-2011, 04:42 PM
ओ जाने वाले आ की तेरे इंतजार में
रस्ते को घर बनाये ज़माने गुजर गए

aawara
03-07-2011, 06:44 AM
अबकी बिछडे तो शायद ख़्वाबों में मिले ,
जैसे दो सूखे हुए फूल किताबों में मिले |

-फराज अहमद

badboy123455
03-07-2011, 09:37 AM
बहारो में न ऐ दिल मुस्कुराना
बना डालेगी यह दुनिया अफसाना

aawara
03-07-2011, 10:04 AM
आते आते मेरा नाम सा रह गया
उनके होंठों पे कुछ कांपता रह गया

-- अज़ीज़ कैसी

badboy123455
03-07-2011, 10:17 AM
क्या करू उसे मोह्हबत नाम की भी नहीं हे


जिस पर मेने जान देदी ,वो मेरा नाम भी नहीं जानती

saam
03-07-2011, 11:18 AM
चंद सिक्को में बिकता हे यहाँ इंसान का ज़मीर,
कोन कहेता हे, मेरे मुल्क में महेंगाई बहोत हे....

marwariladka
03-07-2011, 11:29 AM
nice posting....

भाई साब आप अपने हस्ताक्षर में से खुल्लम खुल्ला सेक्स निमंत्रण को हटा दे एवं अपना मोबाइल नंबर भी हटा दे...यह नियमो के खिलाफ है..

fullmoon
03-07-2011, 12:51 PM
बहुत अच्छे मित्र ,ये शायरी नहीं सच्चाई हे मुझे भी ३ दिन पहले एक लड़की का sms [खत ही समज लो]आया [मना कर दिया उसने बड़े प्यार से]
और मेने उसे कई कई बार पढ़ा
+repo तो स्वीकारना ही पड़ेगा आपको


कोई बात नहीं दोस्त,

आपके लिए उससे अच्छी लड़की कहीं और इंतज़ार कर रही होगी.

वो कहते हैं ना की भगवान् जो करता है,अच्छे के लिए ही करता है.

lovey7
03-07-2011, 01:30 PM
आबाद हो गए वोह ,जिन्हें भूल गए तुम ,
और बर्बाद हो गए वोह ,जिनपे तेरी मेहरबानी हो गयी !!

badboy123455
03-07-2011, 02:48 PM
कोई बात नहीं दोस्त,

आपके लिए उससे अच्छी लड़की कहीं और इंतज़ार कर रही होगी.

वो कहते हैं ना की भगवान् जो करता है,अच्छे के लिए ही करता है.

क्या बात कही हे मित्र इस बात के लिए दुबारा रेपुटेशननहीं दे पा रहा हू चलिये इंतजार करता हू दूसरी का

saam
04-07-2011, 10:54 PM
कमाल का शख्स था जिसने मेरी जिंदगी तबाह कर दी,
राज की बात तो ये हे की दिल उस से खफा अब भी नहीं हे.

saam
04-07-2011, 10:56 PM
बड़ी अजीब हे इस नादान दिल की ख्वाहिश,
आमाल दोजख के हे मगर तलबगार जन्नत के हे....

saam
04-07-2011, 11:00 PM
ना थी जिसको मेरे प्यार की कदर, इत्तेफाक से उसी को चाह रहे थे हम,
उसी दिए ने जलाये मेरे हाथो को, जिसको हवा से बचा रहे थे हम....

Singam
05-07-2011, 01:07 AM
आंखे रो रही थी पर होठो को मुस्कुराना पड़ा,
दिल में था दर्द पर खुश हु जाताना पड़ा.
जिन्हें हम बता देना चाहते थे सब कुछ,
बारिस का पानी कह आंसुओ को छुपाना पड़ा.

Singam
05-07-2011, 01:08 AM
उजाले की दुनिया में अँधेरे बहोत है,
दिल के अँधेरे गहरे बहोत है.
कैसे कोई बनाये सपनो की दुनिया,
सपनो की दुनिया के लुटेरे बहोत है.

Singam
05-07-2011, 01:11 AM
दोस्तों ये शायरी किसी महँ शायर ने नहीं बल्कि मैंने खुद लिखी है. अगर आप लोगो को पसंद आई तो मई आगे अपनी लिखी कुछ और शायरिया पोस्ट करूँगा........

chetna9319
05-07-2011, 07:45 AM
आप बहौत अच्छा लीखते है...आप बहौत अच्छे हो

badboy123455
05-07-2011, 10:30 AM
कमाल का शख्स था जिसने मेरी जिंदगी तबाह कर दी,
राज की बात तो ये हे की दिल उस से खफा अब भी नहीं हे.

वाह मित्र क्या बात हे शानदार

marwariladka
05-07-2011, 11:36 AM
आज का ताजा शेर अर्ज करता हूँ

"प्यार ने मारा,राहगीरों ने मारा ,आखिर मारा परिवार ने

किसी से ना मिला सहारा,मगर उठा लिए मेरे यार ने"

pathfinder
05-07-2011, 04:32 PM
इस दर्जा खो गयी है मेरी कुव्वते शनास
कातिल को आज मैंने मसीहा समझ लिया |


इस दर्जा -इस हद तक
कुव्वते शनास-पहचानने की शक्ति

fullmoon
05-07-2011, 04:50 PM
खुद को पढता हूँ, फिर छोड़ देता हूँ.

रोज़ ज़िन्दगी का एक हर्फ़ मोड़ देता हूँ.....

chester
05-07-2011, 05:44 PM
बहुत खूब , मित्रो

saam
05-07-2011, 10:10 PM
वाह मित्र क्या बात हे शानदार



बहोत बहोत शुक्रिया दोस्त.

ChachaChoudhary
06-07-2011, 12:19 PM
टूटे हुए सपने से
खुली, आज सुबह
फिर आँख
सपना, आज फिर
चुभता रहा, दिन-भर ।

badboy123455
06-07-2011, 08:05 PM
करवट बदलते रहते हे सोते नहीं



कोई आंसू देख न ले इसलिए रोते नहीं

badboy123455
06-07-2011, 08:06 PM
तेरे बगेर ऐसे जिए जा रहा हू में


जेसे कोई गुनाह किये जा रहा हू में

pathfinder
06-07-2011, 10:40 PM
खुद को पढता हूँ, फिर छोड़ देता हूँ.

रोज़ ज़िन्दगी का एक हर्फ़ मोड़ देता हूँ.....
हर लफ्ज़ किताबों में तेरा अक्स लिए है
एक फूल सा चेहरा हमें पढ़ने नहीं देता |


लफ्ज़ -शब्द
अक्स-प्रतिबिम्ब

Dark Rider
06-07-2011, 11:26 PM
लफ्जो में सिर्फ तेरा नाम है , और कोई ख्याल नहीं
हर अक्स में तू मुझे नजर आती है
और लोग पागल समझते है |

saam
07-07-2011, 12:45 AM
मनोज भाई आप शायराना अंदाज में....
:clap::clap::clap::clap:

KHIL@DI_720
07-07-2011, 02:40 AM
उनके लरज़ते हुए हाथों ने मेरी कलाई को यूँ छुआ है ,,
मानो उनकी हर साँस पूछती हो -

" भाई साहब , टाइम क्या हुआ है ? "

badboy123455
07-07-2011, 09:44 AM
लफ्जो में सिर्फ तेरा नाम है , और कोई ख्याल नहीं
हर अक्स में तू मुझे नजर आती है
और लोग पागल समझते है |

इश्क ने कर दिया मनो भाई को निक्कमा

वरना आदमी ये भी बड़े काम के थे

jaihind20
07-07-2011, 10:55 AM
अक्सर देखा है
महोब्बत को नाकाम होते हुए
साथ जीने के वादे किए
फिर तनहा रोते हुए.......

जो हमेशा साथ निभाए..वो तो बस दोस्ती है
जो कभी ना रूलाए..वो तो बस दोस्ती है........
यूँ ही देखा है बचपन की दोस्ती को बूढा होते हूए
ना किए कभी वादे..पर हर वादे को पूरा होते हूए...॥

ये तमन्ना है के मेरी ज़िन्दगी में आओ
और मुझे महोब्बत न करो...
ये इल्तज़ा है के मेरे दोस्त बन जाओ
और मुझे महोब्बत न करो......॥

ANAND SAHU
07-07-2011, 11:02 AM
bahut achcha hai lage raho

badboy123455
08-07-2011, 01:40 PM
आखों को जाम लिखू जुल्फों को बरसात लिखू ,


जिससे नाराज़ हो उसी शक्स को दिल कि हर बात लिखू ,

badboy123455
08-07-2011, 01:41 PM
कुछ लोग यूहि शहर में हमसे खफा रहते है,


क्युकि हर इक से अपनी तबियत नहीं मिलती,

badboy123455
08-07-2011, 01:41 PM
तरह तुमको भी किसी कि तलाश थी,


हम जिसके भी करीब रहे उनको सुरु से ही किसी और कि तलाश थी,

badboy123455
08-07-2011, 01:42 PM
गम दिया है तो थोडा सा सकून दे दो,

मेरे खुद का होने का थोडा सकून दे दो,


कबसे मना रहा हू ए ग़ालिब तुझको



,थोडा तो प्यार का मरहम दे दो,

saam
08-07-2011, 03:03 PM
उम्मीद ना रखना सच्चे प्यार से ए जाना,
बड़े प्यार से धोखा देते हे सिद्दत से चाहने वाले....

saam
08-07-2011, 03:04 PM
ये सोच लिया हे की अब उस को आवाज नहीं देनी,
अब क्या में भी देखू वो मेरा तलबगार हे कितना....

chetna9319
10-07-2011, 08:21 PM
वाह वाह ...क्या बात कही...........

chetna9319
10-07-2011, 08:23 PM
sam जी बहुत अच्छा लिखा ह आपने

marwariladka
10-07-2011, 08:23 PM
एक खिलाडी!!!

जाने कहाँ खड़ा था मैं , कहाँ जाने का दिल था
पता ना चला कब वक़्त का पहिया चल पड़ा था
में बेबस सा देखता रह गया वो निकल पड़ा था
दोस्त था वो, मगर प्यार से कभी भी कम ना था |

आज जब याद आती है उसकी अखबार देख लेता हूँ
देखि तस्वीर उसकी तो निकलते हैं खुसी के आंसू
येही कहते हैं सारे झारखण्ड वाले, सारे देश वासी
जन्मदिन है आज उसका ये बोहतो को पता ना था
मगर आज किसी के भी दिल से वो अछूता ना था |

देश की आवाज,जवान दिलो की धड़कन है वो
बांझो का भी दुलारा बेटा है वो..एक आदर्श है वो
हर भारत वासी से जुड़ा है वो देश की शान है वो
भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति विशेस है वो
हर भारतीय के लिए गर्व की बात है वो
हर दुसरे देश के लिए जलने वाली बात है वो
दुश्मनों को पछाड़ता, जीत का मंत्र सिखाता है वो
सालो के सूखे को तोड़ कर देश का मान बढाया है वो |
हर किसी के दिल से जडित हम सबका महिंदर है वो
सिंह नाम जुडा है उसके, क्रिकेट का राजकुमार है वो
अब तो आप समझ ही गए के हम सबका धोनी है वो
प्यार पाने का हकदार और सर ऊँचा रखने वाला है वो!!!!!!

marwariladka
10-07-2011, 08:24 PM
जन्मदिन!!!
"आपके जन्मदिन पर तोहफा में क्या भेजूं...
जिसके पास हो सब कुछ उसे कुछ और क्या भेजूं...
खुस रहो हमेशा जीवन में बस येही दुआ भेजूं...
इस मुबारक मौके पर प्यार भरा एक पैगाम भेजूं..
लिखने का नहीं है दम मुझमे फिर भी कविता एक लिख भेजूं...
सोचा कभी मैंने के इस बार तुम्हे हीरो का हार भेजूं
फिर आया याद के जो हो तेरे बेकार उसे क्यों भेजूं...
जो दे ना पाया कभी आज वो तुझे प्यार भेजूं...
जिसके पास हो सब कुछ उसे कुछ और क्या भेजूं............."

chetna9319
10-07-2011, 08:25 PM
कोन पागल समझता ह आपको ......MTM ji

marwariladka
10-07-2011, 08:25 PM
एक हैं चेतना जी कर के वो पागल समझती हैं मनोज जी को.....हा हा ह अह

कोन पागल समझता ह आपको ......MTM ji

chetna9319
10-07-2011, 08:27 PM
प्यार को बदनाम किया .फिर किया परिवार को ...ये तो ठीक नहीं ह दोस्त

marwariladka
10-07-2011, 08:28 PM
कसीने किया प्यार और परिवार को बदनाम....???


प्यार को बदनाम किया .फिर किया परिवार को ...ये तो ठीक नहीं ह दोस्त

chetna9319
10-07-2011, 08:29 PM
यार अपनी सचाई खुद बता रहे हो ,बदनाम मुझी क्यों करते हो

marwariladka
10-07-2011, 08:32 PM
सच्चाई???...कैसी सच्चाई???..

हम तो यह कह रहे हैं के

दुसरे के प्यार को ना समझ बदनामी ए नासमझ,

समझ में जो आजाये वो प्यार ही क्या???


यार अपनी सचाई खुद बता रहे हो ,बदनाम मुझी क्यों करते हो

chetna9319
10-07-2011, 08:38 PM
एक हैं चेतना जी कर के वो पागल समझती हैं मनोज जी को.....हा हा ह अह ......ये थी सचाई ...मेने तो बात आगे बधाई बस

marwariladka
10-07-2011, 08:39 PM
अरे मित्र मजाक भी नहीं समझी क्या आप?

एक हैं चेतना जी कर के वो पागल समझती हैं मनोज जी को.....हा हा ह अह ......ये थी सचाई ...मेने तो बात आगे बधाई बस

chetna9319
10-07-2011, 08:48 PM
समझती हू यार ...................

marwariladka
10-07-2011, 08:57 PM
फिर?..खैर छोडो..ये बताओ कहाँ से हो आप?

समझती हू यार ...................

Dark Rider
10-07-2011, 10:02 PM
कोन पागल समझता ह आपको ......MTM ji

शायद यह प्रशन मेरे लिए है ?

abhisheikjohri
11-07-2011, 11:41 AM
नासमझ तो वो ना थे इतना
के प्यार को हमारे समझ ना सके
पेश किया दर्द-ए-दिल हमने नगमों मे
उसे भी वो सिर्फ “शेर” समझ बैठे

बुराईया तो लाख देखी आपने
पर दिलमॅ ना कभी झाक सके
कुसूर तो आपका भी नही है जनाब
हम ही तो आपसे कभी कुछ कह ना सके

टूटे दिलको ना सहलाओ कभी,
अंगारे सुलगते है इस ख़ाक में,
टूटे दिलको ना सहलाओ कभी,
अंगारे सुलगते है इस ख़ाक में,
ना जल जाए हाथ आपका, ए मेरे दोस्त,
इस दिलको तो आदत है
इस दिलको तो अब आदत है

नासमझ तो वो ना थे इतना
के प्यार को हमारे समझ ना सके
पेश किया दर्द-ए-दिल हमने नगमों मे
उसे भी वो सिर्फ “शेर” समझ बैठे

abhisheikjohri
11-07-2011, 11:50 AM
पेश है बशीर बद्र जी का एक मशहूर शेर
:

गम छुपाते रहे मुस्कुराते रहे
महफिलों महफिलों गुन गुनाते रहे
आंसुओं से लिखी दिल की तहरीर को
फूल की पत्तियों से सजाते रहे

गज़लें कुम्ला गईं नज्में मुरझा गईं
गीत सांवला गए साज़ चुप हो गए

फिर भी अहल -ए -चमन कितने खुश्जौक थे
नगमा -ए -फसल -ए -गुल गुनगुनाते रहे

वक़्त का हर क़दम भी भागता रहा
जाकत ले पावून भी दाग मताते रहे

badboy123455
11-07-2011, 11:56 AM
जो बंदिशें थी ज़माने की तोड़ आया हू


में तेरे वास्ते दुनिया को छोड़ आया हू

badboy123455
11-07-2011, 11:57 AM
जो बंदिशें थी ज़माने की तोड़ आया हू


में तेरे वास्ते दुनिया को छोड़ आया हू

badboy123455
12-07-2011, 05:11 PM
पत्थर से दिल लगा कर बर्बाद हो गए,
दिल शाद था मगर अब नाशाद हो गाए,
जिनके वफाओं पर ऐतबार था 'आज़ाद',
करके हमे तबाह वह खुद आबाद हो गए।

badboy123455
12-07-2011, 05:12 PM
बात मुद्दत के मुस्कुराने की रात आयी है,
हर एक वादा निभाने की रात आयी है,
वह जो दूर रहा करते थे साये से भी कभी,
सीने से उनको लगाने की रात आई हैं.

badboy123455
12-07-2011, 05:13 PM
उस गुलाब से पूछो दर्द क्या होता हैं !
जो हर वक़्त खामोश ही रहता हैं !!
औरो को देता हैं पैगाम-ऐ-मोहब्बत !
और खुद काँटों की चुभन को सहता हैं !!

badboy123455
12-07-2011, 05:14 PM
वो कहते हैं मजबूर हैं हम !
न चाहते हुए भी दूर हैं हम....!!
चुरा ली उन्होंने धड़कन भी हमारी !
फिर भी वो कहते हैं की बेकसूर हैं हम !!

badboy123455
12-07-2011, 05:15 PM
क्यों बनाया मुझको आए बनाने वाले !
बहुत गम देते हैं ये जमाने वाले....!!
मैंने आग के उजालों में कुछ चेहरों को देखा !
मेरे अपने ही थे मेरे घर जलाने वाले !!

badboy123455
12-07-2011, 05:15 PM
हमें किसी से कोई शिकायत नहीं !
शायद मेरी किश्मत में चाहत नहीं...!!
मेरी तक़दीर को लिखकर उपरवाले मुकर गए !
पूछा तो बोला ये मेरी लिखावट नहीं....!!

badboy123455
12-07-2011, 05:16 PM
हम अपनी जिंदगी ख़ुशी से लुटा दे !
अगर खुदा हमारी उम्र आपको लगा दे !!
और तो कुछ माँगा नहीं हमने खुदा से !
बस हर जन्म में आपको हमारा दोस्त बना दे !!

badboy123455
12-07-2011, 05:17 PM
बागो - बहारो में तुम ही अच्छे लगे !
लेकिन इसमें मेरा कोई कशुर नहीं !!
कशुर हैं तो सिर्फ इस दिल का...!
जिसे हजारो में तुम ही अच्छे लगे !!

badboy123455
12-07-2011, 05:17 PM
हर पल दिल को बहला लेता हूँ !
तन्हाई में खुद को ही दोस्त बना लेता हूँ !!
याद उनको करके मुस्कुरा लेता हूँ !
गुजरे लम्हों को फिर करीब बुला लेता हूँ !!

badboy123455
12-07-2011, 05:18 PM
काश तू चाँद और मैं तारा होता !
आसमा में एक आशियाना हमारा होता !!
लोग तुम्हे दूर से देखते....!
नजदीक से देखने का हक बस हमारा होता !

badboy123455
12-07-2011, 05:19 PM
रब उसे ऐसी तन्हाई न दे !
हम जी लेंगे तन्हा पर उसे तन्हाई न दे !!
इन निगाहों में बसी रहे उसकी सूरत !
भले मेरी सूरत उसे दिखाई न दे !!

badboy123455
12-07-2011, 10:21 PM
लगता हैं कोई हमसे खपा हैं !
पर यकिन हैं उसकी हर साँस में वफ़ा हैं !!
नहीं हैं उस जैसा कोई दुनियाँ में !
तभी तो उस पर ये जान फिदा हैं !!

badboy123455
12-07-2011, 10:44 PM
यार फोरम के सारे शायर कहा गए


कोई नहीं .........

badboy123455
12-07-2011, 10:46 PM
अपने दिल को अगर दुखाना हैं !
बहारों में अगर घर जलाना हैं....!!
प्यार करो एक बेवफा से !
अगर मोहब्बत को आजमाना हैं !!

badboy123455
12-07-2011, 10:47 PM
अपने दिल को अगर दुखाना हैं !
बहारों में अगर घर जलाना हैं....!!
प्यार करो एक बेवफा से !
अगर मोहब्बत को आजमाना हैं !!

badboy123455
12-07-2011, 10:47 PM
दिल में सिर्फ आप हो और कोई खाश कैसे होगा !
यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा !!
हिचकियाँ कहती हैं आप मुझे याद करते हो !
पर बोलोगे नहीं तो मुझे ये एहसास कैसे होगा !!

badboy123455
12-07-2011, 10:48 PM
आँखों में आँसू की जगह न हो !
मेरे पास आपको भुलाने की वजह न हो !!
अगर भूल जाऊ किसी तरह तो....!
खुदा करे जिंदगी की अगली सुबह न हो !!

badboy123455
12-07-2011, 10:49 PM
धुप तेज़ हैं साया नहीं !
दर्द ऐसा हैं रोना आया नहीं !!
तेरे सिवा किसी को अपना माना नहीं !
क्योकि किसी को तेरे जैसा रब ने बनाया नहीं !!

badboy123455
12-07-2011, 10:51 PM
कल रात वो मिली ख्वाब में !
हम ने पूछा क्यों ठुकराया आपने !!
जब देखा तो उनकी आँखों में भी आँसू थे !
फिर कैसे पूछता क्यों रुलाया आपने !!

badboy123455
12-07-2011, 10:54 PM
बागो - बहारो में तुम ही अच्छे लगे !
लेकिन इसमें मेरा कोई कशुर नहीं !!
कशुर हैं तो सिर्फ इस दिल का...!
जिसे हजारो में तुम ही अच्छे लगे !!

badboy123455
12-07-2011, 10:55 PM
हर पल दिल को बहला लेता हूँ !
तन्हाई में खुद को ही दोस्त बना लेता हूँ !!
याद उनको करके मुस्कुरा लेता हूँ !
गुजरे लम्हों को फिर करीब बुला लेता हूँ !!

badboy123455
12-07-2011, 10:55 PM
रब उसे ऐसी तन्हाई न दे !
हम जी लेंगे तन्हा पर उसे तन्हाई न दे !!
इन निगाहों में बसी रहे उसकी सूरत !
भले मेरी सूरत उसे दिखाई न दे !!

badboy123455
12-07-2011, 10:56 PM
लगता हैं कोई हमसे खपा हैं !
पर यकिन हैं उसकी हर साँस में वफ़ा हैं !!
नहीं हैं उस जैसा कोई दुनियाँ में !
तभी तो उस पर ये जान फिदा हैं !!

badboy123455
12-07-2011, 10:57 PM
मेरे शायर दोस्तों


कहा हो ..........

pathfinder
13-07-2011, 08:58 AM
तुम आसमां की बुलंदी से जल्द लौट आना
हमें जमीन के मसाइल पे बात करनी है |

badboy123455
13-07-2011, 11:24 AM
न कत्ल करते हैं, न जीने की दुआ देते हैं,
लोग किस जुर्म की आखिर ये सज़ा देते है ।

badboy123455
13-07-2011, 11:25 AM
यूं तो मंसूर बने फिरते हैं कुछ लोग,
होश उड जाते हैं जब सिर का सवाल आता है ।

badboy123455
13-07-2011, 11:26 AM
मुझे तो होश नही, तुमको खबर हो शायद ,
लोग कहते है कि तुम ने मुझ को बर्बाद कर दिया ।

badboy123455
13-07-2011, 11:27 AM
आखिर काम कर गए लोग

,
सच कहा और मर गए हम लोग ।

aawara
13-07-2011, 11:27 AM
भूख से बेहाल बच्चों को सुना कर चुटकुले
जो हंसा दे, आज का सबसे बड़ा फनकार है

badboy123455
13-07-2011, 11:28 AM
बस्ती मे सारे लोग लहू मे नहा गए,
लह्ज़ा नए खीताब का कितना अजीब था ।

badboy123455
13-07-2011, 11:28 AM
देखिए गौर से रुक कर किसी चौराहे पर,
जिंदगी लोग लिए फिरते हैं लाशों के तरह ।

badboy123455
13-07-2011, 11:29 AM
इस नगर मे लोग फिरते है मुखौटे पहन कर,
असल चेहरों को यहां पह्चानना मुमकिन नही ।

aawara
13-07-2011, 11:29 AM
कमी रह गयी होगी कुछ तो कशिश में
सदा लौट कर यूँ ही आती नहीं है

badboy123455
13-07-2011, 11:29 AM
कुछ लोग ज़माने ऐसे भी तो होते हैं ,
महफिल में जो हंसते हैं, तन्हाई मे रोते हैं ।

badboy123455
13-07-2011, 11:31 AM
गुलसन में भी बहार आते हैं !
हर किसी पे हम कहाँ यकीन कर पाते हैं !!
दिल का जिसपे होता हैं ज्यादा भरोसा !
कसम से उसी से हम धोखा खाते हैं !!

badboy123455
13-07-2011, 11:32 AM
सौ दूरियों पे रह कर भी जुदा न थे !
वो मेरी जिंदगी थे बेवफा न थे !!
जरा सी बात को क़यामत बना डाला !
वर्ना कभी वो मुझसे इतना खफा न थे !!

badboy123455
13-07-2011, 11:33 AM
हुस्न वाले खूब वफाओ का सिला देते हैं !
हर मोड़ पे एक ज़ख्म नया देते हैं !!
अए दोस्त इस जहाँ में कोई अपना नहीं !
जब आग लगती हैं तो पत्ते भी हवा देते हैं !

badboy123455
13-07-2011, 11:33 AM
दर्द ने पलकों पे सजाया मुझको !
जिंदगी क्या हैं ये बताया मुझको !!
जब भी दिल में हँसने की तमन्ना जागी !
मेरी तक़दीर ने जी भर के रुलाया मुझको !!

badboy123455
13-07-2011, 11:34 AM
चाहत को रोग बना लेने दो !
पलकों के बिच छुपा लेने दो !!
बाद में तुम तक़दीर बताना मेरी !
पहले मुझे ख्वाब सजा लेने दो !!

badboy123455
13-07-2011, 11:35 AM
याद करने से किसी की दीदार नहीं होती !
यूँही किसी को याद करना प्यार नहीं होती !!
यादों में किसी के हम भी तरपते हैं .....!
बस उसे हमारे दर्द का एहसास नहीं होती !!

badboy123455
13-07-2011, 11:36 AM
क्या खूब उनकी आँखों की चमक देखी !
हर सूरत में बस उनकी झलक देखी !!
अचानक दिल बेकाबू हो के रोने लगा !
जब मैंने आंशुओ में भींगी उनकी पलक देखी !!

aawara
13-07-2011, 11:37 AM
कम से कम तुम तो करो खुद पर यकीं, ऐ दोस्तों
गर ज़माने को नहीं तुम पर यकीं, तो क्या हुआ.

aawara
13-07-2011, 11:38 AM
देखिये उस पेड़ को, तनकर खड़ा है आज भी
आँधियों का काम चलना है, चलीं, तो क्या हुआ

badboy123455
13-07-2011, 11:38 AM
वो नज़र कहाँ से लाऊ जो तुम्हें भुला दे !
वो दुवा कहाँ से लाऊ जो दर्द मिटा दे !!
बिछरना तो हाथो के लाकिड़ो में लिखा हैं !
वो तक़दीर कहाँ से लाऊ तो तुमसे मिला दे !!

badboy123455
13-07-2011, 11:39 AM
देखिये उस पेड़ को, तनकर खड़ा है आज भी
आँधियों का काम चलना है, चलीं, तो क्या हुआ

वाह मित्र शानदार ......

badboy123455
13-07-2011, 11:39 AM
कोई आँखों से बात कर लेता हैं !
कोई आँखों में मुलाकात कर लेता हैं !!
बड़ा मुस्किल होता हैं जबाब देना !
जब कोई खामोश रह कर सवाल के लेता हैं !!

badboy123455
13-07-2011, 11:40 AM
कभी - कभी इन आँखों में नमी सी होती हैं !
कभी - कभी इन होठों पे हँसी सी होते हैं !!
एक अनजान सा रिश्ता हैं मेरा....!
वो तुम्ही हो जिस से मेरी जिंदगी - जिंदगी सी होती हैं !!

badboy123455
13-07-2011, 11:43 AM
प्यार ने हमें बेनाम कर दिया !
हर ख़ुशी से हमें अंजान कर दिया !!
हमने नहीं चाहा की प्यार हमें भी हो !
पर उनकी आँखों ने हमें मजबूर कर दिया !!

badboy123455
13-07-2011, 04:19 PM
रिश्ते किसी से कुछ यूँ निभा लो !
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो !!
इतना असर छोर दो किसी पे अपना !
की हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो !!

badboy123455
13-07-2011, 04:20 PM
नफरत लाख मिली मोहब्बत न मिली !
जिंदगी बीत गई पर राहत न मिली !!
तेरी महफिल में हर शक्स को हँसते देखा !
एक मैं था जिसे हँसने की इजाजत न मिली !!

badboy123455
13-07-2011, 04:21 PM
दिल के दर्द को छुपाना कितना मुस्किल हैं !
टूट के फिर मुस्कुराना कितना मुस्किल हैं !!
किसी के साथ दूर तक जा कर तो देखो...!
अकेला लौट के आना कितना मुस्किल हैं !!

badboy123455
13-07-2011, 04:21 PM
जो कमी थी वो दूर हो गई !
जिंदगी एक खिलता हुवा फूल हो गई !!
दुवा की थी एक सच्चे दोस्त की....!
तुम मिली तो लगा की शायद हमारी दुवा कबूल हो गई !!

badboy123455
13-07-2011, 04:22 PM
कोई दोस्त कभी पुराना नहीं होता !
कुछ दिन बात न करने से बेगाना नहीं होता !!
दोस्ती में दुरी तो आती रहती हैं....!
पर दुरी का मतलब भुलाना नहीं होता !!

badboy123455
13-07-2011, 04:23 PM
जो हो गया उसे सोचा नहीं करते !
जो मिल गया उसे खोया नहीं करते !!
कुछ हासिल उन्हें होता हैं जिंदगी में...!
जो दुःख की हालत में भी रोया नहीं करते !!

badboy123455
13-07-2011, 04:23 PM
इतना न तड़पाओ की सोचते रह जाए !
इतना भी न सताओ की रोते रह जाए !!
जिंदगी से बढ़ के चाह हैं तुमको....!
यूँ दिल न दुखाओ की सांसे रुक जाए !!

badboy123455
13-07-2011, 04:25 PM
आप आँखों से दूर दिल के करीब थे !
हम आपके और आप हमारे नसीब थे !!
न हम मिल सके, न जुदा हुवे......!
रिश्ते हम दोनों के कितने अजीब थे !!

badboy123455
13-07-2011, 04:26 PM
जिंदगी में गम मिले तो मिले !
प्यार उसका कभी कम न मिले !!
मेरे खुदा तुमसे बस एक गुजारिश हैं !
चाहता हूँ मैं उसे जितना......
उस से दोगुना प्यार मुझे उसका मिले !!

aawara
13-07-2011, 06:49 PM
वाह मित्र शानदार ......

शुक्रिया मित्र पर आपके द्वारा पेश किए हुए सभी शेर शानदार होते है

pathfinder
14-07-2011, 08:58 AM
वो रुलाकर हंस न पाया देर तक
जब मैं रोकर मुस्कराया देर तक |



भूखे बच्चों की तसल्ली के लिए
माँ ने फिर पानी पकाया देर तक |


गुनगुनाता जा रहा था इक फकीर
धुप रहती है न साया देर तक |

badboy123455
14-07-2011, 09:59 AM
कोई अच्छा लगे तो उस से दोस्ती मत करना !
उस के लिए निंद बेकार मत करना....!!
दो दिन आयेंगे ख़ुशी से मिलने !
तीसरे दिन कहेंगें मेरा इंतजार मत करना !!

badboy123455
14-07-2011, 10:00 AM
झूठा अपनापन तो हर कोई जताता हैं !
वो अपना ही क्यों जो हर पल सताता हैं !!
यकिन न करना हर किसी के बातों पर !
क्योकि करीब हैं कितना कोई ये वक्त ही बताता हैं !!

badboy123455
14-07-2011, 10:04 AM
खुदा न करे कभी आपको खुशियों की कमी हो !
कदम के निचे सदा फूलो की जमी हो...!!
आँसू न हो आपकी आँखों में कभी !
अगर हो तो भी खुशियों की नमी हो !!

badboy123455
14-07-2011, 10:05 AM
चाहत किसी की गुलाम नहीं होती !
मोहब्बत कभी सरे-आम नहीं होती !!
कैसे भूल जाए आपकी यादों को...!
क्योकि हमारी दोस्ती कभी जाम नहीं होती

badboy123455
14-07-2011, 10:05 AM
खुद को पढ़ता हूँ छोर देता हूँ !
उसे भुलाने का वादा तोर देता हूँ !!
बहुत गहता ज़ख्म बसे हैं दिल की निगाहों में !
क्या करू बस रोज एक आइना तोर देता हूँ !!

badboy123455
14-07-2011, 10:16 AM
आपको पाने की ख्वाइश जीने से ज्यादा !
आपको खोने का डर मरने से ज्यादा...!!
आपसे बिछरने का दर्द हर दर्द से ज्यादा !
क्योकि हम आपको चाहते हैं खुद से ज्यादा !!

badboy123455
14-07-2011, 10:19 AM
अब आ भी जाओ की जिंदगी कम हैं !
तुम नहीं तो हर ख़ुशी कम हैं....!!
तेरे ही दम से तो मुकमल हूँ मैं !
तू जो नहीं तो बस गम ही गम हैं !!

badboy123455
14-07-2011, 03:06 PM
मोहब्बत जिनको हो गयी हो किसी से !
वो किसी का नाम कब सोचते हैं.....!!
जो चलते हैं तलवार की धार पे !
वो मोहब्बत का अंजाम कब सोचते हैं !!

badboy123455
14-07-2011, 03:06 PM
तेरे इंतज़ार का ये आलम हैं !
तरपता हैं दिल आँखें भी नम हैं !!
तेरे आरजू में जी रहा हैं .....
वर्ना जीने की ख्वाइश भी अब बहुत कम हैं !!

badboy123455
14-07-2011, 03:07 PM
फूल दो बार नहीं खिलते !
जन्म दो बार नहीं मिलते !!
मिलने को मिल जाते हैं हजारों मगर !
दिल से चाहने वाला बार - बार नहीं मिलते !!

badboy123455
14-07-2011, 03:08 PM
यादों ने पास आकर कुछ यूँ गुनगुना दिया !
जैसे किसी ने भुला हुवा फसाना सुना दिया !!
जाने क्या बात थी उस गुजरे पल में.....!
की दिल रोया लेकिन चेहरा मुस्कुरा दिया !!

badboy123455
14-07-2011, 03:09 PM
आँखों के इशारे समझ नहीं पाते !
होठों से दिल की बात कह नहीं पाते !!
अपनी बेबसी हम किस तरह कहें...!
कोई हैं जिसके बिना हम रह नहीं पाते !!

badboy123455
14-07-2011, 03:09 PM
अधूरे मिलन की आस हैं जिंदगी !
सुख - दुःख का एहसास हैं जिंदगी !!
फुरसत मिले तो ख़्वाबों में आया करो !
आप के बिना बरी उदास हैं जिंदगी !!

badboy123455
14-07-2011, 03:10 PM
चले गए हो दूर कुछ पल के लिए !
दूर रह कर भी करीब हो हर पल के लिए !!
कैसे याद न आये आपकी एक पल के लिए !
जब दिल में हो आप हर पल के लिए !!

badboy123455
14-07-2011, 03:11 PM
पलकों पे आकर रुक जाते हैं ये आँसू !
तन्हाई पाकर बह जाते हैं ये आँसू....!!
बहुत सोचा थोरा गम बाँट लूँ आपसे !
पर आप को हँसता देख कर सुख जाते हैं ये आँसू !!

aawara
14-07-2011, 11:30 PM
उसूलों पर जहाँ आंच आये, टकराना जरूरी है
जो जिंदा हो, तो फिर जिंदा नज़र आना जरूरी है

aawara
14-07-2011, 11:31 PM
सोचता हूँ तो छलक उठती हैं आँखें लेकिन
तेरे बारे में न सोचूं तो अकेला हो जाऊँ

badboy123455
14-07-2011, 11:44 PM
ये इंतजार गलत हे के शाम हो जाये
जो हो सके तो अभी दौरे जाम हो जाये

badboy123455
15-07-2011, 01:56 PM
सच्चाई जाने बिना कोई फैसला न लेना !
हमारी दोस्ती का कभी इम्तिहान न लेना !!
हम नहीं वक्त बेवफ़ा हैं दोस्त....!
कही हमें मतलबी समझ के भुला न देना !!

badboy123455
15-07-2011, 01:57 PM
वो बेवफ़ा नहीं मुझे पता हैं !
उनकी राह देखना ये मेरी अदा हैं !!
वो आए न आए ये उनकी वफ़ा हैं !!
बस तड़पता रहना ये मेरी सजा हैं !!

badboy123455
15-07-2011, 01:58 PM
हम याद रहे तो ठीक वर्ना भुला देना !
हुई खता हमसे तो सजा देना....!
वैसे हम हैं कोरे कागज़ की तरह !
लिखा जाए तो ठीक वर्ना जला देना !!

badboy123455
15-07-2011, 01:58 PM
कोई लाख दूर रहे कितनो भी !
पर अपना ही रहे क्या कम हैं !!
प्यार करे न करे कोई गम नहीं !
बाद याद करते रहे क्या कम हैं !!

badboy123455
15-07-2011, 01:59 PM
अपने मतलब के लिए कभी प्यार न करना !
झूठे दिल से कभी एकरार न करना...!!
अगर न हो मोहब्बत तो कोई बात नहीं !
पर किसी से कभी झूठा एकरार न करना !!

aawara
16-07-2011, 05:44 PM
और क्या इस से ज्यादा कोई नर्मी बरतूं
दिल के जख्मों को छुआ है तेरे गालों की तरह

badboy123455
16-07-2011, 05:55 PM
कुछ यूँ था उनका अलविदा कहने का अंदाज !
की सुना भी कुछ नहीं, कहाँ भी कुछ नहीं....!!
कुछ यूँ बर्बाद हुए उनकी मोहब्बत में हम !
की लौटा भी कुछ नहीं, बचा भी कुछ नहीं...!!

badboy123455
16-07-2011, 05:56 PM
जिंदगी में किसी का साथ काफी हैं !
हाथों में किसी का हाथ काफी हैं...!!
दूर हो या पास फर्क नहीं परता....!
प्यार का तो बस एहसाश ही काफी हैं !!

badboy123455
17-07-2011, 10:27 AM
तुझको मिल जायेगा बेहतर मुझसे !
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुझसे !!
फिर भी दिल में एक ख्याल आता हैं !
जानी तू जो मिल जाए तो बेहतर हैं सबसे !!

badboy123455
17-07-2011, 10:35 AM
तुझको मिल जायेगा बेहतर मुझसे !
मुझको मिल जायेगा बेहतर तुझसे !!
फिर भी दिल में एक ख्याल आता हैं !
जानी तू जो मिल जाए तो बेहतर हैं सबसे !!

badboy123455
17-07-2011, 10:37 AM
चाहत तेरी पहचान हैं मेरी !
मोहब्बत तेरी शान हैं मेरी !!
होके जुदा तुझसे कैसे रह पाऊंगा !
तू तो आखरी साँस तक जान हैं मेरी !!

badboy123455
17-07-2011, 11:04 AM
आपका रिश्ता हमारे सुरों का साज़ हैं !
आप जैसे अपनों पर हमें नाज़ हैं....!!
चाहे कुछ भी हो जाए जिंदगी में !
यह रिश्ता कल भी वैसा ही रहेगा जैसा आज हैं !!

badboy123455
17-07-2011, 11:05 AM
१=अगर वो अपनी मोहब्बत हमें बना ले !
हम उनका हर ख्वाब पलकों पे सजा ले !!
करेगी कैसे मौत हमें उनसे जुदा...!
अगर वो हमें अपनी रूह में बसा ले !!

(२) जिनके तलाश में कदम खुद निकल गए !
जिनकी याद में ये अरमान पिघल गए....!!
ढूंढ़ता था जिनको इस जहाँ में मैं !
पलके बंद की तो वो दिल में ही मिल गए !!

३=जीने के लिए उनकी मुस्कान काफी हैं !
कलम से लिखी हुई ये दास्तान काफी हैं !!
तस्वीर की क्या जरुरत हैं....!
उन्हें देखने के लिए तो बंद आँखे ही काफी हैं !!

Sheena
18-07-2011, 06:59 AM
सता सता के हमें अश्कबार करती है
तुम्हारी याद बहुत बेक़रार करती है


गिला नहीं जो नसीबों ने कर दिया है जुदा
तेरी जुदाई भी अब हम को प्यार करती है

Sheena
18-07-2011, 07:00 AM
सता सता के हमें अश्कबार करती है
तुम्हारी याद बहुत बेक़रार करती है


गिला नहीं जो नसीबों ने कर दिया है जुदा
तेरी जुदाई भी अब हम को प्यार करती है

Sheena
18-07-2011, 07:02 AM
मैं सहल रास्तों का मुसाफ़िर न बन सका

मेरा सफ़र वही है जो दुशवार कुछ तो हो


ऐसा भी क्या कि कोई फरिश्तों से जा मिले

इन्सान है वही जो गुनहगार कुछ तो हो

Sheena
18-07-2011, 07:03 AM
हुस्न जब इश्क़ से मन्सूब नहीं होता है
कोई तालिब कोई मतलूब नहीं होता है

अब गरज़ चारों तरफ पाँव पसारे है खड़ी
अब किसी का कोई महबूब नहीं होता है

Sheena
18-07-2011, 07:04 AM
ख्वाहिश मुझे जीने की ज़ियादा भी नहीं है

वैसे अभी मरने का इरादा भी नहीं है


हर चेहरा किसी नक्श के मानिन्द उभर जाए

ये दिल का वरक़ इतना तो सादा भी नहीं है

Sheena
18-07-2011, 07:06 AM
हम से पूछो। हम झुल्से हैं सावन की घनघोर घटा में
तुम क्या जानों किस शिद्दत की होती है बरसात कि आँच

दिन में पेड़ों के साए में ठडक मिल जाती है
दिल वालों की रूह को अक्सर झुलसाती है रात कि आँच

Sheena
18-07-2011, 07:07 AM
हम से पूछो। हम झुल्से हैं सावन की घनघोर घटा में
तुम क्या जानों किस शिद्दत की होती है बरसात कि आँच

दिन में पेड़ों के साए में ठडक मिल जाती है
दिल वालों की रूह को अक्सर झुलसाती है रात कि आँच

Sheena
18-07-2011, 07:12 AM
हमारी हर नज़र तुझसे नयी सौगंध खाती है
तो तेरी हर नज़र से हम नया पैग़ाम लेते हैं

“फ़िराक़” अक्सर बदल कर भेस मिलता है कोई क़ाफ़िर
कभी हम जान लेते हैं कभी पहचान लेते हैं

Sheena
18-07-2011, 07:13 AM
छलक के कम न हो ऐसी कोई शराब नहीं
निगाह-ए-नर्गिस-ए-राना तेरा जवाब नहीं

ज़मीन जाग रही है कि इन्क़लाब है कल
वो रात है कोई ज़र्रा भी मह्व-ए-ख़्वाब नहीं

Teach Guru
18-07-2011, 07:14 AM
हम से पूछो। हम झुल्से हैं सावन की घनघोर घटा में
तुम क्या जानों किस शिद्दत की होती है बरसात कि आँच

दिन में पेड़ों के साए में ठडक मिल जाती है
दिल वालों की रूह को अक्सर झुलसाती है रात कि आँच

क्या बात है, लाजवाब |

badboy123455
18-07-2011, 01:55 PM
वो आती है रोज़ मेरी “कब्र”पर अपने हमसफ़र के साथ ..
कौन केहता है के “दफनाने” के बाद “जलाया” नहीं जाता..

badboy123455
18-07-2011, 03:15 PM
लाजबाब हैं हमारा जीने का फसाना !
कोई सीखे हमसे हर पल मुस्कुराना !!
कोई मेरी हंसी को नज़र न लगादे....!
बरी मुस्किल से सिखा हैं गम छुपा कर मुस्कुराना !!

badboy123455
18-07-2011, 03:19 PM
तोरने के लिए वादा किया नहीं जाता !
सोच समझ कर प्यार किया नहीं जाता !!
यकीन करो प्यार हो या दोस्ती....!
अगर दिल से की हो तो उसके बिना एक पल जिया नहीं जाता !

badboy123455
18-07-2011, 05:27 PM
(१) छोटी - छोटी बातों पे टकरार न किया करो !
हमारे हर मजाक को दिल पर मत लिया करो !!
क्या पता साथ हैं और कितने दिन....!
इन पलों को तो प्यार से जी लिया करो !!

(२) गुस्ताखी यही हैं हमारी की !
हर किसी से रिश्ता जोर जाते हैं !!
लोग कहते हैं मेरा दिल पत्थर का हैं !
लेकिन कुछ सख्स ऐसे भी हैं..
जो इसे भी तोर जाते हैं !!

badboy123455
18-07-2011, 05:28 PM
(३) तरस गए हम थोरी सी वफा के लिए !
किसी से प्यार नहीं करेंगे खुदा के लिए !!
जब भी लगती हैं इश्क की अदालत...!
क्यों हम ही चुने जाते हैं सजा के लिए !!

(४) ख्वाब समझ कर उसने हमें भुला दिया !
मेरी चाहत का उसने क्या खूब सिला दिया !!
उसकी महफिल में थी तन्हाई का आलम...!
अंधेरा दूर करने के लिए उन्होंने हमें ही जला दिया !!

badboy123455
18-07-2011, 05:28 PM
एय मौत कितनी वफ़ा हैं तुझमे !
आज मैं आजमाना चाहता हूँ !!
जिंदगी ने बहुत रुलाया हैं हमें !
अब अगर तेरा साथ मिले तो..
जिंदगी को रुलाना चाहता हूँ !!

badboy123455
18-07-2011, 05:29 PM
(१) ख़ुशी के आँसू रुकने न देना !
गम के आँसू बहने न देना !!
ये जिंदगी न जाने कब रुक जायेगी !
अपनी प्यारी सी दोस्ती कभी टूटने न देना !!

(२) कभी - कभी तो यूँही रो परती हैं आँखे !
उदास होने का कोई सबब नहीं होता...!!
मैं अपने दिल को ये बात कैसे समझाऊ !
किसी को चाहने से वो अपना नहीं होता !!

badboy123455
18-07-2011, 05:30 PM
दिल की यादों से सवारू तुझे !
तू दिखे तो आँखों में उतारू तुझे !!
तेरे नाम को मैंने अपने लबो पे सजाया हैं !
सो भी जाऊ तो ख्वाबो में पुकारू तुझे !!

badboy123455
18-07-2011, 05:36 PM
(४) हर ख़ुशी गम का एलान हैं !
हर मुलाकात जुदाई का पैगाम हैं !!
न रखना किसी से कोई उम्मीदें !
हर उम्मीद दिल टूटने का फरमान हैं !!

(५) मेरी कलम से लफ्ज खो गए !
आज वो बेवफ़ा हो गए.....!!
जब नींद खुली तो पलकों में पानी था !
मेरे ख्वाब मुझ पे ही रो गए...!!

badboy123455
18-07-2011, 05:37 PM
आपके ख़यालों से फुरसत नहीं मिली !
एक पल के लिए भी राहत नहीं मिली !!
मिल तो जाता हैं सबकुछ इस दुनियाँ में !
बस आपके चेहरे की एक झलक नहीं मिली !

badboy123455
18-07-2011, 05:38 PM
) रहे सलामत दुनियाँ उनकी !
जो मेरी ख़ुशी की फरियाद करते हैं !!
खुदा उन्हें खुशियाँ भरी जिंदगी देना !
जो हमें याद करने में एक पल बर्बाद करते हैं !!

badboy123455
18-07-2011, 05:42 PM
(३) किसी को प्यार इतना करना की हद न रहे !
मगर ऐतबार भी इतना करना की शक न रहे !!
वफ़ा इतना करना की बेवफाई न रहे....!
और दुवा बस इतना करना की जुदाई न रहे !!

(४) जाने से पहले याद दे जायेंगे !
खुद सोने से पहले ख्वाब दे जायेंगे !!
आपको गिला हैं हम आपसे बात नहीं करते !
साँस रुक जाने से पहले हर जबाब दे जायेंगे !!

badboy123455
18-07-2011, 05:42 PM
अगर मुझसे मोहब्बत नहीं तो रोते क्यों हो !
तन्हाई में मेरे बारे में सोचते क्यों हो....!!
अगर मंजिल जुदाई हैं तो जाने दो मुझे !
लौट के कब आओगे ये पूछते क्यों हो !!

badboy123455
18-07-2011, 05:54 PM
(१) जब कुछ सपने अधूरे रह जाते हैं !
तब दिल के दर्द आंसू बन के बह जाते हैं !!
जो कहते हैं की हम सिर्फ आपके हैं....!
पता नहीं वो कैसे अलविदा कह जाते हैं !!

(२) जिंदगी फैली हैं चारो और !
पर क्यों मुझे नज़र नहीं आती !!
लोग कहते हैं हम तेरे दोस्त हैं !
पर क्यों दोस्ती नज़र नहीं आती !!

badboy123455
18-07-2011, 05:55 PM
(३) मेरे दिल में एक धड़कन तेरी हैं !
उस धड़कन की कसम तू नन्ही जान मेरी हैं !!
मेरी साँसों में एक साँस तेरी हैं....!
वो साँस रुक जाए तो मौत मेरी हैं !!

(४) बेवक्त दस्तक देते हैं हम !
शिकायत करने का पूरा हक़ देते हैं हम !!
नफरत भी उनकी ख़ुशी से कबूल करते हैं हम !
जिन्हें दिल से अपना दोस्त कहते हैं हम !!

badboy123455
18-07-2011, 05:56 PM
जब आपका नाम जुबान पर आता हैं !
पता नहीं दिल क्यों बेकरार हो जाता हैं !!
तसल्ली हैं दिल को आप सिर्फ मेरे हो !
फिर बेकरार दिल को करार आ जाता हैं !!

badboy123455
18-07-2011, 05:57 PM
(१) कोई अच्छा लगे तो उस से दोस्ती मत करना !
उस के लिए निंद बेकार मत करना....!!
दो दिन आयेंगे ख़ुशी से मिलने !
तीसरे दिन कहेंगें मेरा इंतजार मत करना !!

(२) झूठा अपनापन तो हर कोई जताता हैं !
वो अपना ही क्यों जो हर पल सताता हैं !!
यकिन न करना हर किसी के बातों पर !
क्योकि करीब हैं कितना कोई ये वक्त ही बताता हैं !!

badboy123455
18-07-2011, 05:57 PM
खुदा न करे कभी आपको खुशियों की कमी हो !
कदम के निचे सदा फूलो की जमी हो...!!
आँसू न हो आपकी आँखों में कभी !
अगर हो तो भी खुशियों की नमी हो !!

badboy123455
18-07-2011, 05:58 PM
(१) काश कोई हम पर भी प्यार जताते !
हमारी आँखों को अपने हाथों से छुपाते !!
हम जब पूछते कौन हो तुम.....!
मुस्कुरा कर वो अपने आप को हमारी जान बताते !!

(२) दिल ने हमें दीवाना बना दिया !
रोए न थे कभी आप ने रुला दिया !!
हमने तो हर वक्त याद किया हैं आपको !
लेकिन आपने याद करने में ज़माना लगा दिया !!

(३) आशिको का नाम हर गम पे लिखा हैं !
फूलों का नाम सबनम पे लिखा हैं !!
तुझे खुद से जुदा कैसे समझू....!
तेरा नाम तो दिल की हर धड़कन पे लिखा हैं !!

(४) शराबी इलज़ाम शराब को देता हैं !
आशिक इलज़ाम शबाब को देता हैं !!
कोई नहीं करता कबूल अपनी भूल...!
कांटा भी इलज़ाम गुलाब को देता हैं !!

(५) कौन कब चाह कर दूर होता हैं !
हर कोई हालात से मजबूर होता हैं !!
हम तो बस इतना जानते हैं....!
हर रिश्ता मोती और कोहिनूर होता हैं !!

badboy123455
18-07-2011, 06:00 PM
वो मेरे लिए कुछ खाश हैं यारों !
जिसके लौट आने की आस हैं यारों !!
वो नज़रों से दूर हैं तो क्या हुवा !
उनके दिल की धड़कन आज भी मेरे पास हैं यारों !!

Sheena
19-07-2011, 04:48 AM
करे दरिया न पुल मिस्मार मेरे
अभी कुछ लोग हैं उस पार मेरे

बहुत दिन गुज़रे अब देख आऊँ घर को
कहेंगे क्या दर-ओ-दीवार मेरे

Sheena
19-07-2011, 04:49 AM
इक इंतज़ार सा था अब नज़र में वो भी नहीं
सफ़र में मरने की फ़ुर्सत थी घर में वो भी नहीं

Sheena
19-07-2011, 04:51 AM
हर पत्ती बोझिल हो के गिरी सब शाख़ें झुक कर टूट गईं
उस बारिश ही से फ़सल उजड़ी जिस बारिश से तैयार हुई

अब ये भी नहीं है बस में के हम फूलों की डगर पर लौट चलें
जिस राहगुज़र पर चलना है वो राहगुज़र तलवार हुई

Sheena
19-07-2011, 04:52 AM
चलिये संभल संभल के कठिन राह-ए-इश्क़ है
नाज़ुक बड़ी है आप की पायल संभालिये

सज धज के आप निकले सर-ए-राह ख़ैर हो
टकरा न जाये आप का पागल संभालिये

Sheena
19-07-2011, 04:54 AM
ये भी क्या एहसान कम हैं देखिये न आप का
हो रहा है हर तरफ़ चर्चा हमारा आप का

चाँद में तो दाग़ है पर आप में वो भी नहीं
चौधवी के चाँद से बड़कर है चेहर आप का

Sheena
19-07-2011, 04:55 AM
ये करें या वो करें ऐसा करें वैसा करें
ज़िन्दगी दो दिन की है दो दिन में हम क्या क्या करें

जी में आता है कि दें पर्दे से पर्दे का जवाब
हम से वो पर्दा करें दुनिया से हम पर्दा करें

Sheena
19-07-2011, 04:57 AM
मेरे पास वक़्त थोड़ा मेरे वाक़्यात लम्बे
कहाँ सर-गुज़श्त अपनी न सुनो मेरा फ़साना

मुझे याद आज भी है जो करम हुआ है मुझ पे
मुझे ग़म अभी है ताज़ा मेरे सामने न आना

aawara
19-07-2011, 10:01 AM
"न सोने से न चांदी से, न हीरे से न मोती से

बुजुर्गों की दुआओं से, बशर धनवान होता है"

aawara
19-07-2011, 10:03 AM
"जब तलक जीना है ,दोस्तों मुस्कुराते ही रहो
क्या ख़बर हिस्से में ,अब कितनी बची है जिन्दगी"

Dark Rider
19-07-2011, 10:04 AM
हाले इश्क में मिट गए , लुट गए
वफा उनसे बस निभानी है
वो है तो कुछ है ...
वरना अब सारा जहां बेमानी है |

aawara
19-07-2011, 10:05 AM
मिलेंगी तब हमें सच्ची दुआयें
किसी के साथ जब आंसू बहायें

बना लें दोस्त चाहे आप जितने
मगर हरगिज़ न उनको आज़मायें

Dark Rider
19-07-2011, 10:06 AM
उन लफ्जों के तरसते है तडपते है
दो पल के साथ के लिए तरसते
सोचा करते है खाश दिल न लगाया होता
वरना आदमी तो हम भी काम के थे ..........................

aawara
19-07-2011, 10:09 AM
वो शक्श जो आज, मेरे सामने बैठा है...
उसे पता कहाँ, वो मेरे दिल में रहता है.

Dark Rider
19-07-2011, 10:10 AM
एक तेरी तमन्ना है इस दिल
रश कोई बाकी नहीं
भूल न जाना इस पागल को
बस कुछ पल के लिए
मुस्करा जाना ....................

पल दो पल के लिए यही सुकून मुझे मिलेगा
उन दो पल के तुम्हारे मुस्काने से ..................

aawara
19-07-2011, 10:13 AM
करने कहाँ है देती, दिल की किसी को दुनिया
सदियों से लीक पर ही, चलना सिखा रही है

Sheena
20-07-2011, 06:44 AM
मुझे पिला रहे थे वो कि ख़ुद ही शमाँ बुझ गई
गिलास ग़ुम,शराब ग़ुम बड़ी हसीन रात थी।

लिखा था जिस किताब कि इश्क़ तो हराम है
हुई वही किताब ग़ुम बड़ी हसीन रात थी।

Sheena
20-07-2011, 06:45 AM
न रस्ता है ये आपका न रस्ता ये मेरे बाप का
अगर मैं साथ हो लिया तो क्या गया जनाब का

Sheena
20-07-2011, 06:47 AM
न यूँ मटक\-मटक के चल न पाँव यूँ पटक के चल
खड़े हैं हम भी राहों में दुपट्टा न झटक के चल

Sheena
20-07-2011, 06:49 AM
कुछ असर उनकी हसीन याद का है,
कुछ असर उनकी प्यारी बात का है........

बहते है पलकों से आसू बनकर टूटे हुए जज्बात,
ये असर तो उनके हर बेवफा मुलाकात का है.........